Testimonials

 

 बर्ष 1986 में मैं कुल्लू व मनाली में मार्शल आर्ट का प्रशिक्षक था। मैं लगभग 4 वर्ष तक कुल्लू जिला में कराटे का प्रशिक्षक रहा। मेरा आना जाना मनाली से भुन्तर तक होता था। माता रानी के दर्शन करने का सोभाग्य प्राप्त होता रहा। मां के मन्दिर का इतना भव्य विस्तार एक सपना सा लगता है। यहां पर दर्शन करने पर  बहुत सकून व मन की शान्ती प्राप्त होती है। भक्तों द्वारा भैंट में दिया गया सभी कुछ भक्तों के आनन्द व आराम हेतू व्यय किया जा रहा है। माता मन्दिर न्यास में आते ही मां के दर्शनों की अनुभूती होती है। मन्दिर के प्रचालक व अन्य सदस्य प्रेम से भरे हुए हैं व सभी का पूर्ण श्रद्धा से स्वागत करते हैं। सभी प्रवन्ध सराहनीय हैं। मेरा व मेरे परिवार का सभी को शत् शत् प्रणाम। मां से निवेदन है कि हमें सेवा करने की शक्ति प्रदान करे व इतनी शक्ति प्रदान करे कि अपने से बढ़ों का आदर सत्कार करें व मां की भक्ति में मन लगा रहे।
राजन सूद
सहायक निदेशक मत्स्य,
मत्स्य मण्डल शिमला।
08-08-2010

 वर्ष 2004 में मैं अपने माता-पिता के साथ और मेरे प्रिय भाई अमन के साथ कुल्लू आया था मेरे पिता के सरकारी कर्मचारी होने से हमें सरकारी घर मिला। हम सब अच्छे से अपने घर में रहते थे। पिता जी ने मुझे और मेरे बढ़े भाई को भारत-भारती स्कूल में दाखिल किया। कुछ दिनों के बाद हमारे बीच में शान्ति भंग होती गई। एक रात मुझे सपना आया कि माता रानी मुझे बुला रही हैं। अगले दिन रविवार को माता-पिता को मैंने सारी बात बताई और मेरे पिता ने योजना बनाई कि हम माता के दर्शन करने चलेंगे। 2 बजे हम मां के यहां पहुंचे और हमने लंगर खाया। उस लंगर से हमें बहुत संतुष्टी मिली। मन्दिर में पहुंचते ही मुझे ऐसा लगा कि मैं स्वर्ग में आया हुं और माता मेरे सामने खड़ी हैं। इतना अच्छा मुझे आज तक नहीं लगा था। उसके बाद हम सब अच्छे से रहने लगे। और हमारे घर की शान्ति भी बनी रही। जय मां वैष्णो देवी। आज मैं 6 वर्ष के बाद फिर कुल्लू आया हूं। आज मुझे गीता मां भी मिली।
राघव सूद
शिमला ।
अगस्त 2010

 मणिकर्ण में जाते हुए हमें मां वष्णो देवी का मन्दिर दिखा तो सोचा आते हुए देखेंगे। आते हुए मां ने हमें दर्शन देने के लिए रोक ही लिया। हमनें सोचा कि सिर्फ मां वैष्णो देवी की तस्वीर होगी जब हम अन्दर गए तो चलते- चलते हमने पूरा मन्दिर देखा तो मन्दिर में मां वैष्णो देवी, मां काली देवी, मां सरस्वती व मां लक्ष्मी की मूर्ती देखी बहुत सुन्दर लगी।
July 2010

 आज दिनांक 01-08-2010 को मैं अपनी पत्नि मन्जुला व दोनों वच्चों सुयांश भारद्वाज व रिजुल भारद्वाज के साथ माता जी के मन्दिर दर्शनों के लिए आया। माता जी के आर्शिवाद से मेरी मन्नत पुरी हई है। हमने मां से जो मांगा  मिला। हम जब पहली बार यहां आए थे तो हमने माता जी से आर्शिवाद में सन्तान मांगी थी जो मां ने पुरी की। आज हम उसी मन्नत के पूरा होने की खु्शी में मां के दरबार में आए है। आज हमारी मुलाकात इस मन्दिर की संचालक परम पूज्य माता जी से हुई इनका व्यक्तित्व प्रभावशाली है। यह प्रेम, त्याग प्यार की मुर्ती है। माता वैष्णो देवी जी की कृपा सदा बनी रहे।
सत प्रकाश   व    सुरेशानन्द भारद्वाज                      
गांव व डा०- काण्डो,                                                
त० शिलाई-जिला सिरमौर     

 इस पवित्र स्थान पर मैं करीब सोलह साल के बाद माता जी के चरणों में आया। सोलह सालों के दौरान इस पावन स्थान को गीता मां व उनके सहयोगियों ने भब्य बना दिया।
            इस कलियुग में जब मानव को मार्ग दर्शन व दुःख हरण का अभाव होगा तो इस भव्य पावन मन्दिर में मानव को शरण की आशा की किरण अवश्य दिखेगी।
प्रदीप के० दीक्षित,
डा० मीना दीक्षित
मुम्बई 400012   25-10-2010

This temple is a grand and number one in India. Ihave seen this temple first time in my life. Mother of this temple is Next to GOD.

I heartly wish her a healthy and long life.

Bal Brahmamchari Maharaj

Rameshwardas gi, Haridwar mob :- 08805090736

   मैं और मेरा परिवार और कुछ साथी दो साल पहले आये थे। मुझे इस पवित्र जगह में भगवान के दर्शन हो गये। इतनी सीढ़ियां चढ़ कर भी  थकान न आई और दर्शन करके खुशी हुई। हर दिन इस पवित्र भगवान की जगह को याद करता हूं। और एक तमन्ना थी, मुझे इस पवित्र जगह का दर्शन मिल गया। मुझे सब कुछ भगवान ने दे दिया है। भगवान सब को खुश रखे यही मेरी प्रार्थना है। बार-बार आने के लिए मैं भगवान महादेवी तीर्थ से प्रार्थना करता हूं। मानव का कल्याण करे यही प्रार्थना, जय महादेवी।
प्रभाकर
पुणे  फोन न० 09850559112
04-08-2010
   Page: 1 || 2 || 3 || 4 || 5 || 6 || 7 || 8

 

 Even water, which has a natural tendency to flow downwards, is drawn up to the sky by the sun's rays. In the same way, God's grace lifts up the mind which has got a tendency to run after sense objects. Sharda Maa

Submit articles- articles@mahadevitirth.com | sharadvani@mahadevitirth.com   Questions - admin@mahadevitirth.com

Mahadevi Tirth   Mahadevi Tirth   Mahadevi Tirth   Mahadevi Tirth   Mahadevi Tirth   Mahadevi Tirth   Mahadevi Tirth   Mahadevi Tirth   Mahadevi Tirth   Mahadevi Tirth   Mahadevi Tirth   Mahadevi Tirth   Mahadevi Tirth    

outils espionnage pc mobile surveillance kit press application pour espionner les messages espionner iphone 3gs ios 5 comment dГ©tecter un logiciel espion sur son mobile press here press espionner un espionner un iphone 4 a distance espionner avec mobile surveillance software in india cell phone spy software reviews